Breaking
Ad
Ad
Ad
News

बोहरा समुदाय की मस्जिद में पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी…

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

बोहरा समुदाय की मस्जिद में पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को इंदौर में बोहरा समाज की वाअज (प्रवचन) में शिरकत करने के लिए पहुंचे। उन्होंने यहां माणिकबाग स्थित सैफी मस्जिद में कहा सैयदना साहब ने समाज के लिए जीने की सीख दी। बोहरा समाज दुनिया को भारत की इस ताकत से परिचित करा रहा है। शांति-सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका महत्वपूर्ण रही है।

Prime Minister Narendra Modi - wikifeed

न्होंने धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात की और दाऊदी बोहरा समुदाय के लोगों को संबोधित भी किया। दाऊदी बोहरा समाज के किसी धार्मिक कार्यक्रम को संबोधित करने वाले वह देश के पहले प्रधानमंत्री हैं। उन्होंने सैफी नगर की मस्जिद में सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से मुलाकात की। इस मस्जिद में दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु के प्रवचन का 9 दिवसीय कार्यक्रम बीते बुधवार से शुरू हुआ है।

View image on TwitterView image on TwitterView image on Twitter

Prime Minister Narendra Modi at Saifee Mosque in Indore to attend Ashara Mubaraka – the commemoration of martyrdom of Imam Hussain, organized by the Dawoodi Bohra community (sect within Ismaili branch of Shias).

बता दें कि यहां प्रधानमंत्री पर आतंकी हमले की खुफिया सूचना मिली थी, जिसके बाद सुरक्षा एजेंसियां चौकन्नी हैं. कार्यक्रम में पहुंचने के लिए मेहमानों को 4 सुरक्षा घेरों से गुजरना पड़ा. प्रधानमंत्री यहां सुबह साढे़ दस बजे के आस-पास पहुंच गए थे. खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान उन्हें एयरपोर्ट पर लेने पहुंचे थे.

View image on TwitterView image on Twitter

PM Narendra Modi arrives in Madhya Pradesh’s Indore, to attend Ashara Mubaraka- commemoration of martyrdom of Imam Hussain, organized by the Dawoodi Bohra community (sect within Ismaili branch of Shias). Madhya Pradesh CM Shivraj Singh Chouhan will also be present at the event.

मोदी ने कहा:

‘‘आप सभी के बीच आना मुझे एक नया अनुभव देता है। मुझे बताया गया कि टेक्नोलॉजी के जरिए दुनिया के अलग-अलग सेंटरों में लोग जुड़े हुए हैं, उन्हें भी मैं नमन करता हूं। इमाम हुसैन के पवित्र संदेश को आपने दिल में उतारा। हुसैन ने अन्याय-अहंकार के खिलाफ आवाज बुलंद की थी। मुझे प्रसन्नता है कि बोहरा समाज का एक-एक जन इस मिशन से जुटा है। हमारे समाज की यही शक्ति है जो दूसरे देशों से अलग पहचान बनाती है।’’

<blockquote class=”twitter-tweet” data-lang=”en-gb”><p lang=”hi” dir=”ltr”>‘अशरा मुबारक’ के इस पवित्र अवसर पर भी आपने मुझे यहां आने का मौका दिया, इसके लिए बहुत आभार। मुझे बताया गया है कि टेक्नॉलॉजी के माध्यम से देश और दुनिया के अलग-अलग सेंटर्स से भी समाज के लोग जुड़े हैं, आप सभी का भी मैं अभिनंदन करता हूं: पीएम <a href=”https://twitter.com/narendramodi?ref_src=twsrc%5Etfw”>@narendramodi</a> <a href=”https://t.co/Y9zhMFkhTM”>https://t.co/Y9zhMFkhTM</a> <a href=”https://t.co/mTRmarAw8H”>pic.twitter.com/mTRmarAw8H</a></p>&mdash; BJP (@BJP4India) <a href=”https://twitter.com/BJP4India/status/1040481336849457152?ref_src=twsrc%5Etfw”>14 September 2018</a></blockquote>
<script async src=”https://platform.twitter.com/widgets.js” charset=”utf-8″></script>

बोहरा समाज के 35 हजार लोग इंदौर, साढ़े चार लाख लोग मध्यप्रदेश और 20 लाख देशभर में रहते हैं। इसी साल मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़ और तेलंगाना में विधानसभा चुनाव हैं। इन चुनावों की वजह से प्रधानमंत्री के इस दौरे को परोक्ष रूप से राजनीतिक फायदे और चुनावी कैंपेन से जोड़कर देखा जा रहा है

प्रधानमंत्री इससे पहले 23 जून को इंदौर आए थे। प्रधानमंत्री के आने-जाने वाले मार्ग में 20 से ज्यादा शैक्षणिक संस्थान हैं। इन्हें सुरक्षा के मद्देनजर बंद रखा गया है। मस्जिद में प्रवेश के सभी 10 दरवाजों पर एसपीजी और पुलिस का पहरा है। गुरुवार रात को ही समाज के सभी लोगों को संदेश भेजा गया कि शुक्रवार को कोई भी मोबाइल फोन, पानी की बॉटल, बैग या फिर कोई अन्य सामान लेकर नहीं पहुंचे।

Sharing is caring!

Write A Comment