Breaking
Ad
Ad
Ad
Information

राजनाथ ने आर्थिक आधार पर दिए गए आरक्षण को सही ठहराया, बोले – समतामूलक समाज चाहते थे आंबेडकर

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

राजनाथ ने आर्थिक आधार पर दिए गए आरक्षण को सही ठहराया, बोले – समतामूलक समाज चाहते थे आंबेडकर

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि सामान्य श्रेणी के गरीबों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने संबंधी नया कानून हर तबके का विकास सुनिश्चित करने की मोदी सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप है.

राजनाथ ने आर्थिक आधार पर दिए गए आरक्षण को सही ठहराया, बोले - समतामूलक समाज चाहते थे आंबेडकर

नागपुर: कांग्रेस पर बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर के नाम पर दलितों के वोट हासिल करने की कोशिश करने का आरोप लगाते हुए केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने रविवार को कहा कि सामान्य श्रेणी के गरीबों को आर्थिक आधार पर 10 फीसदी आरक्षण देने संबंधी नया कानून हर तबके का विकास सुनिश्चित करने की मोदी सरकार की प्रतिबद्धता के अनुरूप है. समाज के कुछ तबकों ने सामान्य वर्ग के गरीबों को आर्थिक आधार पर आरक्षण देने का विरोध किया है. उनका कहना है कि यह संविधान के प्रावधानों के खिलाफ है. भाजपा के अनुसूचित जाति (एससी) मोर्चा के राष्ट्रीय सम्मेलन के समापन समारोह को संबोधित करते हुए राजनाथ ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समतामूलक समाज के आंबेडकर के सपने को पूरा करने के लिए नया आरक्षण लागू किया है.

अगड़ों को आरक्षण का बिल लोकसभा से पास, राजनाथ सिंह ने राज्यसभा में बिल पेश होने से पहले जताई यह उम्मीद

राजनाथ ने कहा, ‘‘बाबासाहेब आंबेडकर ने स्वतंत्रता, समानता एवं बंधुत्व की बातें की थी. उन्होंने गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए संविधान में आरक्षण को शामिल किया और आर्थिक एवं सामाजिक तौर पर पिछड़े लोगों को आरक्षण की सुविधा दी गई. आंबेडकर का सपना समानता सुनिश्चित करना था.” गृह मंत्री ने यह भी कहा कि जिन्हें आरक्षण का लाभ नहीं मिल पाया और देश के विकास में योगदान करने में सक्षम लेकिन आर्थिक तौर पर पिछड़ों को भी आरक्षण मिलना चाहिए.

मोदी कैबिनेट ने लिए कई अहम फैसले, राजनाथ सिंह और रविशंकर प्रसाद ने दी जानकारी

उन्होंने कहा, ‘‘इसी उद्देश्य से प्रधानमंत्री ने ‘सबका साथ, सबका विकास’ के लक्ष्य को पूरा करने के लिए 10 फीसदी आरक्षण दिया.” कांग्रेस पर हमला बोलते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मोदी के शासनकाल में भारत दुनिया में सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था बन गया और इस ‘‘सच्चाई” को दुनिया के अर्थशास्त्रियों द्वारा स्वीकार किया गया है.

0टिप्पणियां

VIDEO: राजनाथ सिंह बोले- लोगों में मोदी सरकार के खिलाफ बिल्कुल आक्रोश नहीं

Write A Comment