Breaking
Ad
Ad
Ad
Information

यूपी में NDA के सहयोगी का BJP से ‘आर-पार’ का ऐलान: अगर मोदी सरकार ने वादा पूरा नहीं किया, तो लड़ेंगे 80 सीटों पर चुनाव

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

यूपी में NDA के सहयोगी का BJP से ‘आर-पार’ का ऐलान: अगर मोदी सरकार ने वादा पूरा नहीं किया, तो लड़ेंगे 80 सीटों पर चुनाव

लोकसभा चुनाव की तैयारियों में व्यस्त भारतीय जनता पार्टी के लिए यूपी की राह इस बार उतनी आसान होती नहीं दिख रही है. बसपा-सपा गठबंधन के बाद बीजेपी के सामने एक और सिरदर्दी है.

यूपी में NDA के सहयोगी का BJP से 'आर-पार' का ऐलान: अगर मोदी सरकार ने वादा पूरा नहीं किया, तो लड़ेंगे 80 सीटों पर चुनाव

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Election) की तैयारियों में व्यस्त भारतीय जनता पार्टी के लिए यूपी की राह इस बार उतनी आसान होती नहीं दिख रही है. बसपा-सपा गठबंधन के बाद बीजेपी के सामने एक और सिरदर्दी है. योगी सरकार में मंत्री और एनडीए में सहयोगी पार्टी SBSP के मुखिया ओम प्रकाश राजभर(OP Rajbhar) ने बीजेपी के खिलाफ बगावत तेज कर दी है. यूपी की सियासत में बीजेपी के साथ आर-पार की लड़ाई का ऐलान करते हुए ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि अगर मोदी सरकार अपना वादा पूरा नहीं करती है तो वह सूबे की 80 सीटों पर अपने प्रत्याशियों को उतारेंगे.

लोकसभा चुनाव से पहले एक और पार्टी ने BJP को दी NDA छोड़ने की धमकी, कहा- अल्टीमेटम के 12 दिन बीत चुके हैं

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (SBSP) अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर ने कहा कि ‘BJP ने पिछड़ा वर्ग के लिए 27 फीसदी आरक्षण में वर्गों को लागू करने का वादा किया था… चुनाव में 80 दिन रह गए हैं, आप कब करेंगे.? अगर आप अपना वादा पूरा नहीं करते, तो हम सभी 80 सीटों पर लड़ेंगे, और हम 25 फरवरी को प्रत्याशियों की सूची जारी कर देंगे.”

View image on Twitter

दरअसल, ओपी राजभर ने बीते दिनों कहा था कि उन्होंने भाजपा को 100 दिनों का समय दिया है, ताकि वह फैसला कर सके कि उसे मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ना है या नहीं. उन्होंने कहा था कि अगर उन्हें दिए गए समय के भीतर कोई जवाब नहीं मिलता है तो उनकी पार्टी सभी 80 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. उन्होंने कहा, ‘हम लोग भाजपा के साथ हैं. अगर भाजपा हमें साथ रखना चाहती है तो हम उनके साथ रहेंगे. अगर वे हाथ नहीं रखना चाहते तो हम उन्हें पहले ही 100 दिन दे चुके हैं. 100 दिनों में जवाब नहीं मिला तो हम सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेंगे.’

यूपी के मंत्री बोले- हिंदू मुस्लिम दंगों में नेता क्यों नहीं मरते? अब कोई भी नेता भड़काए तो उसे ही आग लगा दो

ओमप्रकाश राजभर ने तीन जनवरी को भी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को चेतावनी दी थी. उन्होंने दो टूक कहा था कि अगर प्रदेश में ओबीसी को 27 फीसदी आरक्षण नहीं दिया गया तो उनकी पार्टी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) से अलग हो जाएगी. सुहेलदेव भारतीय समता पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ने कहा था, ‘जब चुनाव नजदीक आता है तो भाजपा को सहयोगी दल याद आते हैं. इस बार बिल्ली मट्ठा भी फूंककर पीएगी.” सहयोगी दल पर दबाव बनाने की राजनीति संबंधी सवाल पर उन्होंने कहा, “अन्य दल दबाव की राजनीति करते होंगे, हम नहीं करते हैं. हम भाजपा के किसी भी कार्यक्रम में इक्कीस महीने से नहीं गए. कार्यक्रम में तब जाऊंगा जब एनडीए की बैठक होगी और दोनों दलों का बैनर होगा, आमंत्रण पत्र मिलेगा.”

Write A Comment