Breaking
Ad
Ad
Ad
Information

इलाज के लिए अमेरिका गए अरुण जेटली की खबर सुनकर ‘दुखी’ राहुल गांधी, बोले- मुश्किल घड़ी में हम हैं आपके साथ

Google+ Pinterest LinkedIn Tumblr

इलाज के लिए अमेरिका गए अरुण जेटली की खबर सुनकर ‘दुखी’ राहुल गांधी, बोले- मुश्किल घड़ी में हम हैं आपके साथ

पिछले साल 14 मई 2018 को 66 वर्षीय जेटली का गुर्दा प्रतिरोपण हुआ था. उसके बाद उनकी यह पहली विदेश यात्रा है. पिछले नौ महीनों में उन्होंने कोई विदेश यात्रा नहीं की है.

इलाज के लिए अमेरिका गए अरुण जेटली की खबर सुनकर 'दुखी' राहुल गांधी, बोले- मुश्किल घड़ी में हम हैं आपके साथ

नई दिल्ली: वित्त मंत्रीअरुण जेटली (Arun Jaitley)इलाज के लिए अमेरिका गए हैं. रिपोर्ट्स के मुताबिक किडनी ट्रांसप्लांट के बाद अरुण जेटली नियमित जांच के लिए अमेरिका गए हैं. इस खबर के बाद कांग्रेस (Congress) अध्यक्षराहुल गांधी (Rahul Gandhi), नेशनल कांफ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला (Omar Abdullah)और राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद (Lalu Prasad Yadav) सहित विपक्ष के कई नेताओं ने उनके शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की. विपक्ष के नेताओं में सबसे पहले राहुल ने जेटली के ठीक होने की कामना की.

कांग्रेस अध्यक्ष ने ट्वीट कर कहा, ‘यह सुनकर दुखी हूं कि जेटली जी अस्वस्थ हैं. हम उनके विचारों को लेकर उनसे रोजाना लड़ते हैं. बहरहाल, मैं और कांग्रेस पार्टी की तरफ से कामना करता हूं कि वह शीघ्र स्वस्थ हों. जेटली जी, इस मुश्किल घड़ी में हम आपके और आपके परिवार के साथ हैं.’

वित्त मंत्री अरुण जेटली मेडिकल जांच के लिए अचानक अमेरिका रवाना : सूत्र

उनके ट्वीट के बाद अब्दुल्ला और लालू ने भी केंद्रीय मंत्री के जल्द ठीक होने की कामना प्रकट की. अब्दुल्ला ने कहा कि उम्मीद है कि वह जल्द ठीक हो जाएंगे और देश वापस आएंगे. कांग्रेस के सलमान खुर्शीद ने भी जेटली के जल्द ठीक होने की कामना की है.

आर्थिक आधार पर आरक्षण: अरुण जेटली का कांग्रेस पर हमला, गरीबों को 10% कोटा था आपका ‘जुमला’

वहीं, कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पी चिदंबरम ने कई ट्वीटों में कहा कि वह अपने साथी सांसद और अधिवक्ता अरुण जेटली के इलाज के लिये विदेश जाने की खबर से बेहद परेशान हैं. पूर्व वित्त मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, ‘मैं उनके शीघ्र और पूरी तरह स्वस्थ होने की कामना करता हूं. बार में, और बाद में साथी सांसद के रूप में जेटली को वर्षों से जानने वाले के रूप में मैं अपने सभी वकील साथियों और सांसदों की ओर से उनके जल्द ठीक होने की कामना करता हूं.’

बता दें, वित्त मंत्री अरुण जेटली गुर्दा संबंधी अपनी बीमारी की जांच के लिए अचानक अमेरिका गए हैं. सूत्रों के मुताबिक जेटली ‘नियमित जांच के लिए’ अमेरिका गए हैं. हालांकि, उनके वापस आने के समय की जानकारी नहीं दी गई है.    पिछले साल 14 मई 2018 को 66 वर्षीय जेटली का गुर्दा प्रतिरोपण हुआ था. उसके बाद उनकी यह पहली विदेश यात्रा है. पिछले नौ महीनों में उन्होंने कोई विदेश यात्रा नहीं की है.

CBI vs CBI: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सरकार की सफाई: हमने CVC की सिफारिश पर भेजा था छुट्टी

उन्हें पिछले साल अप्रैल में एम्स में भर्ती कराया गया था जहां वह डायलसिस पर थे और बाद में उनका गुर्दा प्रतिरोपण हुआ था. जेटली की अनुपस्थिति में वित्त मंत्रालय की अतिरिक्त जिम्मेदारी रेलमंत्री पीयूष गोयल को सौंपी गई थी. जेटली 23 अगस्त 2018 को वापस वित्त मंत्रालय संभालने पहुंचे थे. उन्हें मंगलवार को राष्ट्रीय व्यावहारिक अर्थशास्त्र अनुसंधान परिषद (एनसीएईआर) द्वारा आयोजित सातवें सी. डी. देशमुख स्मृति व्याख्यान में प्रमुख वक्ता के तौर पर शामिल होना था. जेटली को एक फरवरी को अपना छठा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली राजग सरकार का आखिरी बजट पेश करना है. हालांकि, इस बार का बजट अंतरिम बजट होगा लेकिन उम्मीद की जा रही है कि उनका बजट भाषण आम बजट के जैसा ही होगा. मई में लोकसभा चुनाव के बाद नयी सरकार जुलाई में पूर्ण बजट पेश करेगी.

 

न्यूज टाइम इंडिया : लोकसभा में आरक्षण बिल पर चर्चा, 10 प्रतिशत से फायदा किसको?​

Write A Comment